Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

हाजीपुर मुख्यालय

मंडल

समाचार अपडेट

निविदाओं और अधिसूचनाएं

हमसे संपर्क करें

प्रदायक सूचना



 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
लोकोमोटिव

                                कार्यालय प्रमुख मुख विददुत इंजीनियर
ट्रैक्शन रोलिंग स्टॉक (TRS)

इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव पूरी तरह से बिजली से चलते और काम करते हैं. वहीं इलेक्ट्रिक इंजन

दूसरे इंजनों की अपेक्षा काफी तेज होते हैं. जानकारी के मुताबिक, एक इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव

लगभग दो डीजल लोकोमोटिव और तीन स्टीम लोकोमोटिव के बराबर होता है.


Indian Railways : भारतीय रेलवे (Indian Railways) विश्व का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है.

रेलवे को भारत की लाइफलाइन भी कहा जाता है. प्रतिदिन हजारों की संख्या में यात्री ट्रेनों से

सफरकरते हैं. ट्रेनों में सफर करना जहां सबसे ज्यादा आरामदायक माना जाता है, वहीं यह

आपके बजटमें भी होता है. समय बदलने के साथ ही ट्रेन की टेक्नोलॉजी में भी काफीबदलाव

हुआ है. आप में सेशायद काफी लोग इस बात को जानते भी होंगे, कि अभी भारत में इलेक्ट्रिक

और डीजल इंजन चलते हैं. यानी की सभीलोकोमोटिव मशीन हैं, जो कि ट्रेनों को खींचने का

काम करती हैं. पहले से ही इसमें डीजल इंजनों का इस्तेमाल होता आया है. लेकिन इलेक्ट्रिक

लोकोमोटिव आने के बाद वर्तमान में डीजल और इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव दोनों का ही इस्तेमाल काम

में किया जा रहा है.

इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव : ओवरहेड केबल के माध्यम से लोकोमोटिव को बिजली की सप्लाई की जाती है,

जो अल्टरनेटिंग करंट ले जाती है. वहीं यह केबल एक पावर स्टेशन से जुड़े होते हैं, जो जरूरी बिजली का

उत्पादन भीकरते हैं. एक इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव का पहला चरण पेंटोग्राफ होता है. दरअसल पेंटोग्राफ

ट्रेन के ऊपर लगा हुआ ऐसा इक्विपमेंट होता है, इसमें लगी चीजें ओवरहेड लाइनों को छूते हुए बिजली

कलेक्टकरती हैं. वहीं बिजली लोकोमोटिव की छत पर सर्ज अरेस्टर (Surge Arrester) और वैक्यूम

सर्किटब्रेकर(Vacuum circuit Breaker) के जरिए बस बार (Busbar) के ऊपर चलती है. इन इक्विपमेंट

काइस्तेमाल शॉर्ट सर्किट और ओवररन करंट से इंजनों की सुरक्षा के लिए होता है. भारतीय रेलवे के

इंजन मेंडब्ल्यूएजी-9 सबसे पॉवरफुल बोझ ले जाने वाला लोकोमोटिव है




Source : CMS Team Last Reviewed : 01-05-2024  


  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.